GJUST: अम्बेडिड सिस्टम वर्तमान युग में हर इंडस्ट्री में उपयोगी - कुलपति प्रो. बी.आर. कंबोज

 अम्बेडिङ सिस्टम इलेक्ट्रोनिक इंडस्ट्री, ऑटोमोबाइल, नेटवर्किंग तथा कृषि क्षेत्र में हर जगह उपयोग किया जा रहा है। अम्बेडिङ सिस्टम और मशीन लर्निंग पर आधारित ऑटोमेशन से मानव को कार्य करने में आसानी होती है। समय की बचत होती है तथा उत्पाद की गुणवत्ता भी अच्छी होती है। 


GJUST: अम्बेडिड सिस्टम वर्तमान युग में हर इंडस्ट्री में उपयोगी - कुलपति प्रो. बी.आर. कंबोज


GJUST: गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय हिसार के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के सौजन्य से 'अम्बेडिड सी प्रोगेमिंग ऑफ माइक्रो कंट्रोलर' विषय पर चल रहा फैकल्टी डवैल्पमैंट प्रोग्राम सम्पन्न हो गया है। विश्वविद्यालय के चौधरी रणवीर सिंह सभागार में हुए समापन समारोह में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बलदेव राज काम्बोज मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रहे। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.. अवनीश वर्मा समारोह के विशिष्ट अतिथि थे। अध्यक्षता विभागाध्यक्षा डा. प्रीति प्रभाकर ने की। ऑनलाइन व ऑफलाइन माध्यम से हुआ यह कार्यक्रम एनआईटीटीटीआर चंडीगढ़ द्वारा प्रायोजित था। इस अवसर पर एनआईटीटीटीआर चंडीगढ़ की इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग की प्रोफेसर डॉ रितुला ठाकुर उपस्थित रही।

GJUST

कुलपति प्रो. बलदेव राज काम्बोज ने अपने सम्बोधन में कहा कि अम्बेडिङ सिस्टम इलेक्ट्रोनिक इंडस्ट्री, ऑटोमोबाइल, नेटवर्किंग तथा कृषि क्षेत्र में हर जगह उपयोग किया जा रहा है। अम्बेडिङ सिस्टम और मशीन लर्निंग पर आधारित ऑटोमेशन से मानव को कार्य करने में आसानी होती है। समय की बचत होती है तथा उत्पाद की गुणवत्ता भी अच्छी होती है। अम्बेडिड सिस्टम जोड़ने का कार्य करता है। जैसे कि यह फैकल्टी डवैल्पमैंट प्रोग्राम एनआईटीटीटीआर और गुजविप्रौवि हिसार को जोड़े हुए है। इस दिशा में काम करते हुए हमें रोजगार तथा उद्यमिता के अवसर खोजने पर जोर देना चाहिए।

प्रोफेसर डा. रितुला ठाकुर ने अपने सम्बोधन में कहा कि हम आगे भी इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करत रहेंगे एवं शिक्षकों और विद्यार्थियों के कौशल को विकसित करने का प्रयास करेंगे।

विभागाध्यक्षा डा. प्रीति प्रभाकर ने अपने धन्यवाद सम्बोधन में कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमने यह फैकल्टी डेवल्पमेंट प्रोग्राम कोरोना महामारी के बाद ऑफलाइन तथा ऑनलाइन दोनो माध्यम से सफल रूप से किया, जिसमें 31 विभिन्न राज्यों से आए शिक्षकों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि अम्बेडिड सिस्टम वर्तमान युग में हर इंडस्ट्री में उपयोग होता है। इस प्रकार के कार्यक्रमों से शिक्षकों के कौशल में विकास होता है, जो कि आगे जाकर विद्यार्थियों के कौशल को विकसित करने का काम करता है। इससे राष्ट्र का विकास होता है।

विभाग के शिक्षक डा. राजेन्द्र कुमार ने स्वागत सम्बोधन किया। शिक्षक डा. सुमित सरोहा ने कार्यक्रम की रिपोर्ट प्रस्तुत की व बताया कि पिछले आठ महीने में यह हमारे विभाग की तीसरी सफल एफडीपी है। शिक्षिका रिचा शर्मा ने मंच संचालन किया। इस अवसर पर इलेक्ट्रोनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग विभाग की अध्यक्षा डा. सुमन दहिया, शिक्षक सरदूल सिंह, अभिमन्यू, विनोद कुमार, इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के शिक्षक कृष्ण कुमार व कल्याण सिंह उपस्थित रहे।

उज्ज्वल भारत

Ujjawal Bharat is a media and news entity which provides you unbiased news, critical analysis and Interpretation about Politics, Social issues & Trending issues. We also share information about Entertainment, sports and also local ground news reports related to common people.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने